जो मुलाक़ात हुई नहीं उसका शीर्षक क्या हो?

किशोर चौधरी हिंदी किताबें पढ़ने वालों के लिए परिचित नाम है. किशोर रेगिस्तान के वासी हैं और उनकी कहानियों, पुस्तकों और फेसबुक पोस्टों में भी रेगिस्तान की रूमानियत झलकती है. उनसे कई बार मिलना तय हुआ लेकिन हम दोनों एक साथ कभी मिल नहीं सके. पिछले दिनों दिल्ली में मुलाक़ात हुई तो तो उन्होंने वादा[…]

Children of God…in Artologue

For the first time, we were nervous. It is difficult to explain the rush of mixed emotion when we reached the Srijan Help, a school for ‘special’ children. They greeted us with hearty smiles, warm shake-hands, curious looks and shyness. Initially talking to them looked like a difficult task but that was not because a[…]